जल संसाधन

यह पृष्‍ठ अंग्रेजी में (बाहरी विंडो में खुलने वाली वेबसाइट)

जल संसाधन

पृथ्वी पर जल हाइड्रोलॉजिकल चक्र के माध्यम से गति में है। पानी की जरूरत मनुष्य, जानवर या पौधे सभी को होती है और इसका संरक्षण करना अतिआवश्यक है। पानी के स्रोत की प्रकृति सक्रिय और गतिशील होती है। इस कारण इसके पुनःदोहन के लिए स्रोतों को इनके बहाव दर प्राथमिकता के अनुसार नापना चाहिए। इस प्रकार जल संसाधन के दो पहलू हैं। प्रवाह के रूप में मापा जाने वाला गतिशील संसाधन विकास की जरूरतों के लिए अधिक प्रासंगिक है। स्थिर या रिजर्व, जिसमें पानी की मात्रा भी शामिल है, जल निकायों के क्षेत्र की लंबाई मछली पालन, नेविगेशन जैसी गतिविधियों के लिए प्रासंगिक है।



जल संसाधन संबंधित जानकारी


स्रोत: राष्‍ट्रीय पोर्टल विषयवस्‍तु प्रबंधन दल, द्वारा समीक्षित: 29-04-2011