यह पृष्‍ठ अंग्रेजी में (बाहरी वेबसाइट जो एक नई विंडों में खुलती हैं)

केंद्रीय शासन में अन्य नौकरियां

भारतीय रेल में रोजगार के अवसर

भारतीय रेल (बाहरी वेबसाइट जो एक नई विंडों में खुलती हैं) नौकरियां देने वाला देश का सबसे बड़ा संगठन है। रेलवे के शीर्षतम पदों पर यूपीएससी द्वारा नियुक्तियां की जाती हैं। शेष सभी, जिनमें ग्रुप “सी” भी शामिल है के लिए, नियुक्तियां रेलवे खुद करता है, जिसके लिए देशभर में जोनल कार्यालय स्थापित किए गए हैं।

इस तरह यहां कुल 19 (उन्नीस) रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) (बाहरी वेबसाइट जो एक नई विंडों में खुलती हैं) हैं जो अपनी आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए संबंधित क्षेत्रीय कर्मचारियों की भर्ती करते हैं। ये भर्तियां मांग के आधार पर की जाती हैं, इसके लिए रोजगार अधिसूचना रोजगार समाचार (बाहरी वेबसाइट जो एक नई विंडों में खुलती हैं) और अन्य समाचार पत्रों में विज्ञापन के रूप में जारी की जाती है। सामान्यतः एक वर्ष में प्रत्येक आरआरबी इस प्रकार की दो अधिसूचनाएं जारी करता है।

समान अवसर एवं समरूपता को ध्यान में रखते हुए रेलवे एवं इसके सभी भर्ती बोर्ड्स एक ही तरह के आवेदन पत्रों का उपयोग करते हैं। नियुक्तियों के लिए चयन प्रक्रिया में प्राप्त आवेदन पत्रों की छंटाई करके विभिन्न मानदंडों के आधार पर योग्य अभ्यर्थियों की एक सूची बनाई जाती है। इसके बाद कॉल लेटर्स पर तिथि एवं परीक्षा केंद्र अंकित करके उन्हें आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों को भेज दिया जाता है। यह लेटर्स परीक्षा के लगभग एक महीने पहले भेजे जाते हैं। साथ ही अस्वीकृत आवेदनों की जानकारी वेबसाइट पर उपलब्ध करा दी जाती है।

चयन परीक्षा आवश्यकतानुसार एक या दो चरण में संपन्न करवाई जा सकती है। ज्यादातर पदों के लिए परीक्षाओं के बाद साक्षात्कार भी लिए जाते हैं। सफल अभ्यर्थियों से उनके सभी जरूरी दस्तावेज सत्यापन के लिए मंगवाए जाते हैं।

हालांकि रेलवे की नियुक्ति परीक्षाओं के नियम तथा पूरी जानकारी रेलवे भर्ती एवं नियंत्रण बोर्ड (बाहरी वेबसाइट जो एक नई विंडों में खुलती हैं), नई दिल्ली द्वारा तय किए गए हैं, जिन्हें आप भर्ती मंडलों (बाहरी वेबसाइट जो एक नई विंडों में खुलती हैं) की वेबसाइट पर देख सकते हैं:

  • भर्ती प्रकिया
  • परीक्षा अनुसूची
  • आवेदन पत्र
  • जाति प्रमाण पत्रों का फॉरमेट
  • नई अधिसूचनाएं
  • ऑनलाइन आवेदन एवं पंजीकरण
  • ऑनलाइन परीक्षा का डेमा
  • परिणाम
  • अधिसूचना का स्टेटस
  • अस्वीकृत आवेदकों की सूची, इत्यादि

अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें। (बाहरी वेबसाइट जो एक नई विंडों में खुलती हैं)

रक्षा एवं अर्धसैनिक सेवाएं

भारत का हर नागरिक, चाहे वो किसी भी धर्म, जाति, समुदाय या प्रांत का हो, यदि वो शारीरिक, शैक्षिक एवं मेडिकल मानदंड पूरा करता है तो, भारतीय सशस्त्र सेनाओं में अपनी सेवा दे सकता है।

रक्षा सेनाओं में रोजगार के अवसर

अर्धसैनिक बलों में रोजगार के अवसर

भारतीय अर्धसैनिक बलों में अलग-अलग काम करने वाले कई कारक मौजूद हैं। इसलिए इसे मूलरूप से दो हिस्सों में बांटा गया है। एक है केंद्रीय पुलिस संगठन (सीपीओ) तथा दूसरी है केंद्रीय अर्धसैनिक बल (सीपीएफ)। इन बलों में समय-समय पर रिक्तियों की सूचनाएं आती रहती हैं।

अर्धसैनिक बलों में रोजगार

बीमा/बैंकिंग सेवाएं

बीमा एवं बैंकिंग क्षेत्र में भारत तेजी से उभरता हुआ क्षेत्र बन चुका है। इस क्षेत्र में इस समय भरपूर रोजगार के अवसर उपलबध हो रहे हैं तथा ऐसी उम्मीद है कि अगले कुछ वर्षों में इसमें और भी तेजी से बढोतरी होगी।

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक और बीमा कंपनियां रोजगार के विभिन्न अवसर प्रदान करती हैं। नेशनल फेडरेशन ऑफ स्टेट कोऑपरेटिव बैंक लिमिटेड (बाहरी वेबसाइट जो एक नई विंडों में खुलती हैं) विभिन्न राज्य सहकारी बैंकों के लिए प्रबंधन में वरिष्ठ स्तरों पर भर्ती की सेवाएं प्रदान करता है।

बैंक और बीमा कंपनियां भी भर्ती के लिए परीक्षा और साक्षात्कार प्रणाली का निर्वाह करती हैं।

उपयोगी लिंक:

सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों में नौकरियां (पीएसयू)

सरकार द्वारा सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यमों/उपक्रमों के अधिकारियों के लिए संशोधित वेतनमान लागू किया गया है। इसके अलावा उन्हें अधिक कुशल बनाने के लिए प्रदर्शन आधारित प्रोत्साहन भुगतान के रूप में कुछ नए उपाय भी किए गए हैं। यह प्रोत्साहन भुगतान व्यकित्गत, समूह के साथ-साथ कंपनी के प्रदर्शन के लिए दिया जाता है। इसलिए नौकरी चाहने वालों के बीच सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों (पीएसयू) में नौकरी पाना एक आकर्षक विकल्प है।

सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों (पीएसयू) की अपनी स्वयं की भर्ती प्रक्रिया है। यह क्षेत्र तकनीकी और गैर तकनीकी कर्मियों के लिए रोजगार के अवसर प्रदान करता है।

लोक उद्यम चयन बोर्ड, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों में अध्यक्ष, प्रबंध निदेशक या अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक (लेवल-I), और कार्यात्मक निदेशक (लेवल-II) और सरकार द्वारा निर्दिष्ट किसी भी अन्य स्तर के रूप में कर्मियों के चयन और नियुक्ति के लिए जिम्मेदार होता है।

स्रोत: राष्‍ट्रीय पोर्टल विषयवस्‍तु प्रबंधन दल, द्वारा समीक्षित: 26-04-2011