यह पृष्‍ठ अंग्रेजी में (बाहरी वेबसाइट जो एक नई विंडों में खुलती हैं)

दमन एवं दीव

परिचय

दमन

दमन 2000 वर्ष से अधिक की सम़ृद्ध ऐतिहासिक विरासत वाला प्रदेश है। दमन का जिला पूर्व संघ राज्‍य क्षेत्र गोवा की राजधानी है। दमन और दीव गुजरात के सूरत जिले में स्थित है। दमन पूरे वर्ष सुहाना मौसम रहता है। गर्मी के मौसम में दमन में अरब सागर से आने वाली ठण्‍डी हवाएं बहती हैं। लंबे तट देवका तट पर पर्यटकों के लिए मनोरम दृश्‍य है। यहां का सुंदर और सुरंक्षित मनोरंजन पार्क अपने संगीतमय फव्‍वारों से आने वाले पर्यटकों का सप्‍ताहांत सुखद बना देते हैं और यहां बच्‍चों के लिए भी कई प्रकार की मनोरंजक गतिविधिया उपलब्‍ध है।

दमन में समृद्ध और बहुरंगी सांस्‍कृतिक विरासत है। यहां नृत्‍य और संगीत दमनवासियों के दैनिक जीवन का जरूरी हिस्‍सा है। यहां संस्‍कृतियों का अद्भुत सम्मिश्रण पाया जाता है - जनजातीय, शहरी, यूरोपीय और भारतीय। यह अनोखा संगम दमन के पारम्‍परिक नृत्‍यों में दिखाई देता है। विभिन्‍न पुर्तगाली नृत्‍य यहां भली भांति संरक्षित किए गए हैं और अब भी व्‍यापक स्‍तर पर प्रस्‍तुत किए जाते हैं। सामाजिक टिप्‍पणियों के साथ जनजातीय नृत्‍य भी यहां प्रचलित हैं।

पर्यटक आकर्षण

दीव

सूर्य, रेत और समुद्र का एक सुंदर मेल दीव ईश्‍वर का उपहार है जो यहां रहने वालों के लिए एक वरदान है और जहां इस अनोखी दुनिया के अद्भुत नजारे लिए जा सकते हैं, यहां आत्‍मा को जागृत किया जा सकता है और प्रकृति का संगीत सुना जा सकता है। ठण्‍डी हवाओं, प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर यह छोटा सा द्वीप गुजतरा राज्‍य के सौराष्‍ट्र (काठिया वाड़) के दक्षिणी सिरे पर स्थित है और यह अरब सागर से घिरा हुआ है। यहां के दृश्‍य सुंदर तटों और मनमोह लेने वाले इतिहास से सभी को आकर्षित करते हैं।

यह पुर्तगाली ऐतिहासिक किलों, विशाल गिरजाघरों, सुनेहरी रेत वाले तटों, नीले समुद्री पानी, नवीनतम जल क्रीड़ाओं, स्‍वच्‍छ परिवेश और दोस्‍ताना स्‍थानीय आबादी के साथ हर मौसम में एक उपयुक्‍त पर्यटक स्‍थल है। यहां सभी मौसमों में उपयुक्‍त सड़कों के अच्‍छे जुड़ाव हैं।

पर्यटक आकर्षण

तट

चक्रतीर्थ तट

चक्रतीर्थ तट एक ऐसा सुंदर स्‍थान है जहां आप अपनी तट की यात्रा और तट के अवकाश अच्‍छी तरह बिता सकते हैं। लगभग मध्‍य में स्थित यह तट घरेलू और अंतरराष्‍ट्रीय पर्यटकों द्वारा समान रूप से पसंद किया जाता है और उन्‍हें कार्य के बीच अवकाश का एक मौका प्रदान करता है। यहां की पहाड़ी और आस पास का क्षेत्र तथा स्‍थानीय दृश्‍य भी अत्‍यंत सुंदर हैं। आप यहां पुराना शिव मंदिर और एक मनमोहक सूर्योदय का दृश्‍य देख सकते हैं जो इसे पश्चिमी भारत का एक शानदार पर्यटन स्‍थल बनाते हैं।

देवका तट

देवका तट एक लोकप्रिय पर्यटन गंतव्‍य है क्‍योंकि यहां एक अनोखा मनोरंजन पार्क है, जिसमें रंग बिरंगे पानी के फव्‍वारे लगे हुए हैं। आप यहां खच्‍चर पर सवारी करके देवका तट का आनंद ले सकते हैं। वास्‍तव में यह सुंदर तट बच्‍चों के साथ घूमने के लिए एक बढिया स्‍थान है। यह तट उन 6 तटों में से एक है जहां पर्यटकों को सभी मूलभूत सुविधाएं मिलती है।

गोमटीमाला तट

गोमटीमाला तट असाधारण रूप से सुंदर और शांत तट है। इस अत्‍यंत सुंदर घोड़े की नाल के आकार वाले तट पर अनेक जल क्रीड़ा सुविधाएं उपलब्‍ध हैं। यह तैरने के लिए सुरक्षित है। यह दीव के मुख्‍य शहर से 27 किलो मीटर की दूरी पर स्थित है। यहां का विशाल सफेद रेत वाला तट उन पर्यटकों को उत्‍कृष्‍ट अवसर प्रदान करता है जो आराम करना चाहते हैं और एक शांतिपूर्ण अवकाश बिताना चाहते हैं।

जामपोर तट

जामपोर तट आपके लिए एक अच्‍छा स्‍थान है यदि आप तैरना पसंद करते हैं और कई प्रकार की जल क्रीड़ाएं करना चाहते हैं। त्‍यौहारों के दौरान इस तट को रोशनी से सजाया जाता है और यहां सभी वर्गों के लोग आते हैं। यहां पर पाम के ढेर सारे वृक्ष लगे हुए हैं जो पूरे दिन समुद्र की ठण्‍डी हवा में झूमते रहते हैं। इस तट का सौंदर्य और पवित्रता आपके मन को पूरी शांति और आनंद देते हैं जो कल्‍पना से परे हैं।

नागोआ तट

नागोआ तट पर पाम के वृक्ष लंबी कतार में दिखाई देते हैं और यह लगभग वीरान और अलग थलग पड़ा तट है। यहां निश्चित रूप से भारत के सुंदर तटों में से एक तट का दृश्‍य दिखाई देता है। यह दीव से केवल 20 मिनट की दूरी पर है। यहां आप एक अनोखा घोड़े की नाल के आकार वाला तट देख सकते हैं। इस अछूते तट के पानी की ताजगी तैरने वालों को एक नया पन प्रदान करती है।

वनकभारा तट

वनकभारा तट दीव के अन्‍य प्रसिद्ध तट में से एक है जिसका विशेष उल्‍लेख किया जाना चाहिए। वनकभारा तट का दूसरा नाम शहरी भीड़भाड़ से दूर रहना एक आदर्श स्‍थान कहा जा सकता है। इस तट पर निजता और पवित्रता को सबसे अधिक कोमल रेत के साथ सर्वोत्तम रूप से अनुभव किया जा सकता है। तैराकी और पिकनिक यहां के अवकाश में कुछ आदर्श योजनाएं कही जा सकती हैं। सच्‍चे अर्थों में वनकभारा तट आपको परियों के देश में ले जाता है जहां सुंदरता और प्राकृतिक दृश्‍यों का अनुकूल परिवेश है।

स्रोत: राष्‍ट्रीय पोर्टल विषय वस्‍तु प्रबंधन दल, 18-02-2011 को समीक्षित